करेंट अफेयर्स 8 अप्रैल 2017

करेंट अफेयर्स क्विज़: 08 अप्रैल 2017
1. ओलंपिक रजत पदक विजेता पी.वी. सिंधु ‘बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन’ की ताज़ा रैंकिंग में तीन स्थान के उछाल के साथ कितने नंबर पर पहुंच गई?

a.    2

b.    4

c.    6

d.    7
2. पाकिस्तान टेस्ट क्रिकेट टीम के किस खिलाड़ी ने 6 अप्रैल 2017 को संन्यास की घोषणा कर दी?

a.    अहमद शहजाद

b.    मिस्बाह उल हक

c.    अज़हर अली

d.    इनमें से कोई नहीं
3. केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने हाल ही में किस योजना को बंद करने की मंजूरी दे दी है?

a.    प्रधानमंत्री आवास योजना

b.    प्रधानमंत्री जन धन योजना

c.    प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना

d.    महात्मा गांधी प्रवासी सुरक्षा योजना
4. भारतीय रिजर्व बैंक ने निम्न में से किसे कार्यकारी निदेशक नियुक्त किया है?

a.    विकास घोष

b.    निर्मला सिंह

c.    मालविका सिन्हा

d.    शिखा गोदरेज
5. भारत-संयुक्त अरब अमीरात सांस्कृतिक समारोह का त्यौहार निम्नलिखित में से किस स्थान पर शुरू हुआ है?

a.    जयपुर

b.    अबू धाबी

c.    नयी दिल्ली

d.    मुम्बई
6. भारत और ब्रिटेन ने ग्रीन एनर्जी प्रॉजेक्ट्स के लिए कितने मिलियन पौंड्स का फंड बनाने का निर्णय किया है?

a.    240

b.    220

c.    150

d.    180
7. स्वास्थ्य और चिकित्सा में सहयोग के संबंध में भारत और निम्न में से किस देश के बीच समझौता ज्ञापन हुआ है?

a.    ऑस्ट्रेलिया

b.    अमेरिका

c.    नेपाल

d.    इराक
8. भारत और निम्नलिखित में से किस देश के बीच एयर सर्विस एग्रीमेंट को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंजूरी प्रदान की है?

a.    इराक

b.    ईरान

c.    नेपाल

d.    जॉर्जिया
9. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने झारखंड के किस स्थान पर मल्टीे मोडल टर्मिनल और गंगा नदी पर बनने वाले चार लेन के पुल तथा अन्य कई विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखी?

a.    रांची 

b.    मनिहारी 

c.    साहिबगंज 

d.    जगन्नाथ पुरी
10. किस देश ने भारत के साथ आपसी व्याापार में बढ़ोतरी हेतु भारतीय व्यापारियों को पांच वर्षीय बहु-प्रवेश वीजा देने की पेशकश की?

a.    रूस 

b.    इजराइल

c.    फ़्रांस

d.    अमेरिका
11. किस पडोसी देश के प्रधानमंत्री चार दिनों की भारत यात्रा पर दिल्ली पहुंची? 

a.    नेपाल 

b.    श्रीलंका 

c.    म्यामार 

d.    बांग्लादेश
12. सितंबर 2016 में तत्कालीन उपराज्यपाल नजीब जंग द्वारा केजरीवाल सरकार के फैसलों की समीक्षा हेतु समिति गठित की, समिति का निम्न में से क्या नाम है, जिसने हाल ही में रिपोर्ट जारी की?  

a.    सुब्रमण्यम समिति 

b.    वीके शुंगलू समिति  

c.    वी के भट्टाचार्य समिति

d.    उपरोक्त में से कोई नही
13. किस प्रदेश के मुख्यमंत्री ने राज्य में छह एम्स जैसे संस्थान बनाने की घोषणा की? 

a.    राजस्थान 

b.    उत्तर प्रदेश

c.    कर्नाटक 

d.    तमिलनाडु  
14. अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और चीन के राष्ट्रपति षी जिनपिंग के मध्य में किस स्थान पर पहली बैठक आयोजित की गयी? 

a.    शंघाई 

b.    फ्लोरिडा 

c.    बीजिंग 

d.    न्यू हेम्पशायर
15. राष्ट्रिपति प्रणब मुखर्जी ने राष्ट्रपति भवन में एक समारोह में वीरता अवार्ड और विशिष्ट सैन्य अलंकरण प्रदान किए. राष्ट्रपति ने कितने लोगों को सम्मानित किया?

a.    60

b.    59

c.    73

d.    26
उत्तर:

1.a. 2

2.b. मिस्बाह उल हक

3.d. महात्मा गांधी प्रवासी सुरक्षा योजना

4.c. मालविका सिन्हा

5.b. अबू धाबी

6.a. 240

7.a. ऑस्ट्रेलिया

8.d. जॉर्जिया

9.c. साहिबगंज 

10.b. इजराइल

11.d.बांग्लादेश

12.b. वीके शुंगलू समिति  

13.b. उत्तर प्रदेश

14.b. फ्लोरिडा 

15.b. 59
दैनिक समसामयिकी 
1.मनमोहन का मिला साथ जीएसटी का रास्ता साफ :जीएसटी से जुड़े 4 बिलों को संसद की मंजूरी
· राज्यसभा ने भी ऐतिहासिक वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के लिए जरूरी चार विधेयकों को गुरुवार को मंजूरी दे दी। इसके साथ ही जीएसटी विधेयकों पर संसद की मुहर लग गई। इन विधेयकों को राष्ट्रपति की मंजूरी मिलने के बाद राज्य विधानसभाओं से जीएसटी के पांचवें विधेयक एसजीएसटी को पारित कराने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। 
· केंद्र सरकार की कोशिश जीएसटी को एक जुलाई, 2017 से लागू करने की है। जीएसटी लागू होने के बाद मौजूदा केंद्रीय उत्पाद शुल्क, सेवा कर और वैट जैसे कई परोक्ष कर समाप्त हो जाएंगे। 1राज्यसभा ने बीते दो दिनों में आठ घंटे तक चली चर्चा के बाद जीएसटी के चारों विधेयकों को मंजूरी दे दी। सरकार ने ये सभी विधेयक धन विधेयक के रूप में पेश किए थे। 
· लोकसभा ने 29 मार्च को इन पर मुहर लगाई थी। राज्यसभा में सरकार अल्पमत में है। ऐसे में मुख्य विपक्षी कांग्रेस ने समर्थन देकर इन ऐतिहासिक विधेयकों को पारित कराने में मदद की। कांग्रेस के विरोध को खत्म करने में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने अहम भूमिका निभाई। 
· इसका परिणाम यह हुआ कि कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने जीएसटी विधेयकों में संशोधन के अपने प्रस्तावों को वापस ले लिया। साथ ही सदन में इस बात का उल्लेख किया कि सरकार को मनमोहन सिंह की दरियादिली को याद रखना चाहिए। कांग्रेस के रुख में यह बदलाव इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि पिछले हफ्ते ही वित्त विधेयक, 2017 में राज्यसभा में पांच संशोधन पारित कर विपक्ष ने सरकार के लिए असहज स्थिति पैदा कर दी थी। 
· तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन ने इन विधेयकों में संशोधन का प्रस्ताव पेश किया लेकिन सदन ने उसे अस्वीकार कर दिया। उनका प्रस्ताव था कि जीएसटी काउंसिल जो भी फैसला ले उसे मंजूरी के लिए संसद लाया जाए। दरअसल अधिकतर संशोधन प्रस्ताव जीएसटी काउंसिल को लेकर ही थे। जीएसटी विधेयकों पर चर्चा का जवाब देते हुए वित्तमंत्री अरुण जेटली ने विधेयकों के प्रावधानों को लेकर सदस्यों की आशंकाओं को खारिज किया। 
· उन्होंने यह भी आश्वस्त किया कि जीएसटी लागू होने पर महंगाई नहीं बढ़ेगी। इससे कारोबारियों की परेशानियां कम होंगी और पूरा देश एक बाजार बन जाएगा। जीएसटी के तहत देश में कर की चार दरें – 5, 12, 18 और 28 प्रतिशत होंगी। जीएसटी कानून में गिरफ्तारी के प्रावधान को स्पष्ट करते हुए जेटली ने कहा, सिर्फ तीन स्थितियों में ही गिरफ्तारी का प्रावधान है। 
· अगर कोई व्यक्ति बिना बिल के सामान या सेवा की आपूर्ति करता है या बिना सामान की आपूर्ति के बिल जारी करता है या फिर जीएसटी जमा नहीं करता है। लेकिन अगर मामला दो करोड़ रुपये से कम है तो गिरफ्तारी नहीं होगी। इससे छोटे व्यवसाइयों को कठिनाई नहीं होगी। अगर मामला दो से पांच करोड़ का है तो गिरफ्तारी होने पर जमानत मिल सकेगी। 
· मामला पांच करोड़ से अधिक का होने पर जमानत नहीं मिलेगी।
· जीएसटी का विचार 2006 में आया था और उसके बाद सभी दलों ने इसमें अपना योगदान किया। इस तरह यह सामूहिक संपत्ति है। इससे केंद्र, राज्य और उद्योग जगत को फायदा होगा।
2. सस्ते कर्ज की टूटी आस
· महंगाई बढ़ने का जोखिम देखते हुए रिजर्व बैंक ने बृहस्पतिवार को पेश मौद्रिक समीक्षा में आधार दर में कोई बदलाव न करने का फैसला किया है। बैंक के इस कदम से बैंक कर्ज सस्ता होने की आस टूट गई है।मौद्रिक समीक्षा में केंद्रीय बैंक ने रेपो दर को 6.25 प्रतिशत पर स्थिर रखा। हालांकि, बैंकों में पड़ी अतिरिक्त नकदी को कम करने के लिए उसने रिवर्स रेपो दर को 0.25 प्रतिशत बढ़ाकर छह प्रतिशत कर दिया। 
· रिवर्स रेपो दर वह दर होती है जिसपर वाणिज्यिक बैंक अपना धन रिजर्व बैंक के पास रखते हैं। अब इस पैसे पर बैंकों को अधिक ब्याज मिलेगा जबकि दूसरी तरफ फौरी जरूरत के लिए रिजर्व बैंक से लिए गए धन पर उन्हें पुरानी दर 6.25 प्रतिशत पर ही ब्याज देना होगा। 
· कुल मिलाकर बैंकों को फायदा होगा, उनके कोष की लागत एक तरह से कम हो सकती है और वे कर्ज सस्ता करने की स्थिति में हो सकते हैं।रिजर्व बैंक ने 2017-18 की पहली द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में कहा है कि बैंकों की सीमांत स्थायी सुविधा (एमएसएफ) को 0.25 प्रतिशत घटाकर 6.5 प्रतिशत कर दिया गया।
· एमएसएफ के तहत बैंक सरकारी प्रतिभूतियों के एवज में अपेक्षाकृत कुछ अधिक समय के लिए रिजर्व बैंक से कर्ज लेते हैं। बैंक दर एक तरह से दंडात्मक व्यवस्था है जो उधार चुकाने में देरी पर लागू किया जाता है। बैंक दर को 0.25 प्रतिशत घटा कर घटाकर 6.5 प्रतिशत कर दिया गया है। 
· केन्द्रीय बैंक ने कहा कि महंगाई और अर्थव्यवस्था को लेकर उसे तीन मोचोर्ं पर चिंता है। इनमें सबसे बड़ी और पहली चिंता मानसून पर पड़ने वाले संभावित अल-नीनो प्रभाव की है।
· रेपो 6.25 फीसद पर बरकरार
· रिवर्स रेपो दर .25 फीसद बढ़ीदवृद्धि के बाद 6.0 फीसद हुई
· रेपो और रिवर्स रेपो का गैप घटा
· सीमांत स्थायी सुविधा की दर और बैंक दर को 6.75 फीसद से घटाकर 6.50 फीसद किया गया
· पहली छमाही में मुद्रास्फीति 4.5 और दूसरी में 5.0 फीसद रहेगी
· आर्थिक संकेतक वृहत आर्थिक परिदृश्य में सुधार बताते हैंदमानूसन को लेकर अनिश्चितता से मुद्रास्फीति का दबाव बढ़ेगा
· जीएसटी, खराब मानसून, वेतन आयोग की सिफारिशें लागू होने से मुद्रास्फीति बढ़ने का जोखिम
· लघु बचत दरों सहित नीतिगत दरों का लाभ पूर्ण रूप से हस्तांतरित करने की और गुंजाइश बनी हुई है
3. सर्विस सेक्टर में जोरदार तेजी
· देश के सेवा क्षेत्र में मार्च में लगातार दूसरे माह वृद्धि दर्ज की गई। अर्थव्यवस्था में गतिविधियां बढ़ने और नए आर्डर मिलने के साथ साथ मुद्रास्फीति दबाव कम रहने से यह वृद्धि दर्ज की गई। एक मासिक सव्रेक्षण में यह परिणाम जारी किया गया है। 
· इससे पहले पीएमआई के विनिर्माण क्षेत्र के सूचकांक में भी अच्छी वृद्धि दर्ज की गई। निक्केई इंडिया सर्विसिज पच्रेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (पीएमआई) के मुताबिक सेवा क्षेत्र का सूचकांक मार्च में 51.5 अंक हो गया। फरवरी में यह 50.3 अंक रहा था। पीएमआई मासिक आधार पर सेवा क्षेत्र की गतिविधियों का आकलन करता है। यह सूचकांक लगातार दूसरे माह 50 के स्तर से ऊपर रहा। 
· सूचकांक 50 से ऊपर रहना क्षेत्र में वृद्धि को दर्शाता है जबकि इससे नीचे रहने पर गिरावट का पता चलता है। आईएचएस मार्किट की अर्थशास्त्री और रिपोर्ट तैयार करने वाली पोलियाना डी लीमा ने सेवा क्षेत्र के पीएमआई पर कहा, ‘‘मांग और उत्पादन में तेजी का फायदा उठाते हुए भारत की निजी क्षेत्र की अर्थव्यवस्था मार्च में तेजी के रुख में रही। 
· नोटबंदी से आई सुस्ती के बाद देश की अर्थव्यवस्था में तेज सुधार आया है। मुद्रास्फीति दबाव नरम रहने से रोजगार बढ़े हैं।’ रिपोर्ट में कहा गया है कि नोटबंदी के बाद तीन महीने गिरावट में रहने के बाद भारतीय सेवा क्षेत्र फरवरी में वृद्धि की राह पर लौट आया। 
· कारोबारी स्थितियों में सुधार आने से रोजगार सृजन में भी सुधार हुआ है जबकि भविष्य को लेकर कारोबारी परिदृश्य के बारे में विास भी चार माह के उच्च स्तर पर पहुंचा है।
4. हसीना आज से भारत की चार दिवसीय यात्रा पर
· बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना की शुक्रवार से शुरू हो रही चार दिवसीय भारत यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग पर दो अहम करार सहित करीब 25 समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाने की उम्मीद है।
· भारत बांग्लादेश को सामान्य तौर पर पांच अरब डॉलर तथा रक्षा आपूत्तर्ि करार के अंतर्गत 50 करोड़ डॉलर का अतिरिक्त ऋण भी देगा। दक्षिण एशिया में आईएसआईएस के फैलते जाल के मद्देनजर दोनों देशों के बीच मजहबी कट्टरवाद और आतंकवाद को रोकने में सहयोग पर भी गहन मंथन किया जाएगा। 
· दोनों देशों के बीच इसी क्रम में साइबर सुरक्षा को लेकर एक अहम समझौता भी होने की संभावना है।विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव (बंग्लादेश-म्यांमार) श्रीप्रिया रंगनाथन ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पीएम मोदी के निमंतण्रपर हसीना शुक्रवार दोपहर यहां पहुंचेंगी। 
· यह उनके दूसरे कार्यकाल में भारत की पहली द्विपक्षीय आधिकारिक यात्रा है। भारत सरकार ने उन्हें विशिष्टतम अतिथि के रूप में राष्ट्रपति भवन में ठहराने का इंतजाम किया है। हसीना का शनिवार को राष्ट्रपति भवन में स्वागत किया जाएगा।
5. द. कोरिया ने किया बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण
· दक्षिण कोरिया ने देश में विकसित 800 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली एक बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण किया है जो उत्तर कोरिया के किसी भी हिस्से को अपना निशाना बना सकती है। योनहाप समाचार एजेंसी ने बृहस्पतिवार को खबर दी कि दक्षिण कोरिया के इस परीक्षण से एक दिन पहले उत्तर कोरिया ने जापान सागर में एक बैलिस्टिक मिसाइल दागी थी। 
· उत्तर कोरिया ने यह मिसाइल चीन-अमेरिका शिखर सम्मेलन से पहले दागी थी। इस शिखर सम्मेलन में प्योंगयांग का बढ़ता परमाणु हथियार कार्यक्र म एजेंडे में शीर्ष पर रहने की संभावना है। दक्षिण कोरिया को अमेरिका ने सुरक्षा प्रदान की है और देश में हजारों अमेरिकी सैनिक मौजूद हैं। 
· दक्षिण कोरिया ने वर्ष 2012 में उत्तर कोरिया के परमाणु खतरों से अपनी रक्षा के लिए अपनी बैलिस्टिक मिसाइल पण्राली की मारक क्षमता तीन गुना अधिक करने के लिए अमेरिका के साथ एक समझौता किया था और उस समय से वह अधिक दूरी की मारक क्षमता वाली मिसाइलों को विकसित कर रहा है। 
· एक उच्च रैंक के सरकारी अधिकारी का हवाला देते हुए योनहाप ने बताया कि 800 किलोमीटर (500 मील) की मारक क्षमता वाली दक्षिण कोरिया की मिसाइल प्योंगयांग को रोकने में अहम हो सकती है। अधिकारी को यह कहते हुए उद्धृत किया गया, मिसाइल का परीक्षण सफल रहा। 
· रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने इस पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। योनहाप ने बताया कि दक्षिण कोरिया नई मिसाइल की विश्वसनीयता की परख के लिए और अधिक परीक्षण करने के बाद इसे इस वर्ष तैनात करने की योजना बना रहा है। 
· एजेंसी ने बताया कि अगर यह मिसाइल देश के दक्षिणी क्षेत्र से भी दागी जाती है तो भी यह पूरे उत्तर कोरिया को अपने घेरे में ले सकती है।
6. इस्रइल ने भारतीय कारोबारियों के लिए वीजा नीति को सरल बनाया
· इस्रइल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावित दौरे से पहले द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा देने के मकसद से भारतीय कारोबारियों के लिए कई बार प्रवेश की सुविधा वाला वीजा देगा।भारतीय लोगों के लिए वीजा जारी करने के मुद्दे पर दोनों पक्ष कई वर्षों से बातचीत करते आ रहे हैं। 
· पहले व्यापारी प्रतिनिधिमंडलों में शामिल रहकर इस्रइल का दौरा कर चुके कई व्यापारियों ने इस्रइल की वीजा नीति को लेकर चिंता जताई और भारतीय अधिकारियों ने संबंधित इस्रइली मंत्रालयों के समक्ष इस मामले को उठाया।
· आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि वीजा नीति को सरल बनाने का इस्रइल का यह फैसला उस वक्त हुआ है जब दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंध स्थापित होने को 25 वर्ष पूरा होने के साथ साझेदारी बढ़ रही है। 
· इस्रइली पर्यटन मंत्रालय के महानिदेशक आमिर हैलवी ने कहा कि उनका देश उन भारतीयों के लिए वीजा नियमों को सरल बनाने पर विचार कर रहा है जो इस्रइल आना चाहते हैं तथा इस्रइल उन लोगों को पेपर वीजा देने के लिए भी तैयार है जो अरब जगत की अपनी भविष्य की यात्रा को लेकर चिंतित रहते हैं।
· उन्होंने कहा, वीजा प्रक्रिया अब बेहतर है और उम्मीद करते हैं कि यह और भी सरल होगी। अगर भारत का कोई पर्यटक पेपर पर नत्थी वीजा चाहता है तो वह हासिल कर सकता है और उसको लेकर कई समस्या नहीं होगी। प्रधानमंत्री मोदी का इस्रइल दौरा जुलाई में होने की संभावना है।
7. दक्षिण पूर्व एशिया में 8.6 करोड़ लोग अवसादग्रस्त : डब्ल्यूएचओ
· क्या आपने कभी इस पर ध्यान दिया है कि आप या आपके आसपास के लोग ठीक से सो नहीं पा रहे हैं, थका हुआ महसूस कर रहे हैं, उन्हें अपराध बोध हो रहा है और खुश रहने की तमाम कोशिशों के बावजूद खुश नहीं रह पा रहे हैं। 
· जिंदगी की भागमभाग में आप इन्हें सामान्य बात मानकर नजरअंदाज कर सकते हैं लेकिन ये सभी अवसाद के लक्षण है जो तेजी से लोगों को अपनी जद में ले रहा है। विश्व स्वास्य संगठन ने चौंकाने वाले आंकड़ों का खुलासा करते हुये कहा कि दक्षिण पूर्व एशियाई देशों में आठ करोड़ 60 लाख लोग अवसादग्रस्त हैं। उसने हाल ही में मानसिक स्वास्थ्य देखभाल विधेयक पारित करने के लिए भारत की तारीफ की और राष्ट्रों से मानसिक स्वास्य सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार करने के लिए कहा है। 
· विश्व स्वास्थ्य दिवस की पूर्व संध्या पर बृहस्पतिवार को डब्ल्यूएचओ की दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र की निदेशक डा. पूनम खेत्रपाल सिंह ने कहा कि अवसाद आत्महत्या का कारण बन सकता है और इस क्षेत्र में 15 से 29 वर्ष की उम्र के लोगों के बीच मौत का दूसरा सबसे बड़ा कारण आत्महत्या है। 
· उन्होंने कहा कि अवसाद से संबंधित स्वास्य सेवाओं को ऐसा बनाना चाहिये जो आसानी से लोगों की पहुंच में हो और उच्च गुणवत्ता की हो। डा. सिंह ने कहा कि अवसाद का इलाज ना होने पर वह खुदकुशी की वजह बन सकती है और उन्होंने लोगों से इसके लक्षणों के बारे में खुलकर बात करने के लिए कहा ताकि इससे किसी को परेशानी ना हो और कोई व्यक्ति कम उम्र में ही अपनी कीमती जान ना लें।
· इस बार का है थीम: विश्व स्वास्य दिवस इस बार अवसाद पर फोकस कर रहा है। अवसाद एक ऐसी स्थिति है जिसमें व्यक्ति लगातार उदास रहता है या उसका किसी चीज में मन नहीं लगता या वह चीजों का आनंद नहीं उठा पाता। मानसिक स्वास्य देखभाल विधेयक के लिए भारत की प्रशंसा की जिसमें आत्महत्या को अपराध नहीं माना गया और ऐसे व्यक्ति की मानसिक स्थिति का इलाज उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गयी है। 
· ‘‘बांग्लादेश, भूटान, इंडोनेशिया, मालदीव और श्रीलंका में हाल के वर्षों में शीर्ष दस स्वास्थ्य प्राथमिकताओं में मानसिक स्वास्थ्य भी एक है। 11 में आठ सदस्य देशों के पास मानसिक स्वास्थ्य नीतियां या योजनाएं हैं।’
· लक्षण समझने पर जोर : अवसाद के बारे में खुलकर बात करने और इसके संकेतों तथा लक्षणों को बेहतर तरीके से समझकर, हम अगर अवसाद जैसे लक्षणों को महसूस करते हैं तो खुद की अच्छे ढंग से मदद कर सकते हैं। साथ ही हम अपने सहकर्मियों, दोस्तों और प्रियजनों जो अवसादग्रस्त हो सकते हैं, उनकी मदद कर सकते हैं।
· अवसाद हालांकि सभी आयु वर्ग के लोगों को प्रभावित करता है लेकिन ज्यादातर किशोरों और युवाओं, प्रसव की आयु वाली महिलाओं :खासतौर से बच्चे को जन्म देने के बाद वाली: तथा 60 वर्ष की उम्र से ऊपर के लोगों में यह आम है। 
· अवसाद के संकेतों और लक्षणों में ठीक से नींद ना आना, कम भूख लगना, अपराध बोध होना, आत्मविश्वास में कमी, थकान महसूस होना और सुस्ती शामिल हैं। उत्तेजना या शारीरिक व्यग्रता, मादक पदार्थों का सेवन करना, एकाग्रता में कमी और खुदकुशी करने का ख्याल आना भी इसके लक्षण हैं। 
· अवसाद से गुजर रहे लोगों के लिए इससे उबरने के लिए नियमित तौर पर ऐसे व्यक्ति से बात करना जिनपर वे भरोसा करते हो या अपने प्रियजनों के संपर्क में रहना मददगार हो सकता है। शराब और नशीले पदार्थो से दूर रहकर अवसाद से बचा जा सकता है।
8. कारोबार में भ्रष्टाचार के लिहाज से भारत की स्थिति में हुआ सुधार
· कारोबार में भ्रष्टाचार और रिश्वतखोरी के लिहाज से भारत को 41 देशों की सूची में नौवें स्थान पर रखा गया है। पहले की तुलना में उसकी स्थिति सुधरी है। 2015 में भारत सूची में छठे पायदान पर था। ईवाई यूरोप, मध्य पूर्व, भारत और अफ्रीका (ईएमईआइए) फ्रॉड सर्वे 2017 में यह निष्कर्ष निकाला गया है। इस सर्वे में भारत से शामिल करीब 78 फीसद प्रतिक्रिया देने वालों ने कहा कि कारोबार में रिश्वतखोरी और भ्रष्टाचार आम बात है। 
· इस लिहाज से भारत को यूक्रेन, साइप्रस, ग्रीस, स्लोवेनिया, क्रोएशिया, केन्या, दक्षिण अफ्रीका और हंगरी के बाद नौवें पायदान पर रखा गया है।12015 के सर्वे की तुलना में भारत की रैंकिंग में सुधार बेहतर विनियामक जांच और पारदर्शिता व प्रशासन पर जोर का नतीजा है। ईवाई इंडिया के पार्टनर व नेशनल लीडर अरपिंदर सिंह ने कहा कि भारतीय कंपनियों में भ्रष्टाचार व रिश्वतखोरी को लेकर सोच में थोड़ा ही लेकिन सकारात्मक बदलाव आता दिख रहा है। 
· वैसे, कार्यस्थल पर जेनरेशन वाय (सामान्य तौर पर 1980-90 के दशक में जन्मे लोगों के लिए इस शब्द का इस्तेमाल किया जाता है) के बीच अनैतिक व्यवहार एक गंभीर चिंता का विषय बन गया है। 
· ईएमईआइए) फ्रॉड सर्वे रिपोर्ट कहती है कि कारोबारी माहौल में अनिश्चितता, वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने के लिए बढ़ता दबाव और अभूतपूर्व करियर ग्रोथ को हासिल करने की आकांक्षाएं कार्यस्थल पर अनैतिक व्यवहार अपनाने के लिए जिम्मेदार हैं। 1सर्वे में 41 फीसद उत्तर देने वाले भारतीयों ने कहा कि वे खुद के करियर को आगे बढ़ाने के लिए अनैतिक कार्य करने के लिए तैयार हैं। 
· जबकि 13 फीसद लोगों ने कहा कि वे अपना करियर या वेतन आगे बढ़ाने के लिए गलत जानकारी देने को तैयार हैं। दुनियाभर में प्रतिक्रिया देने वाले प्रत्येक पांच में से एक व्यक्ति ने कहा कि वह करियर के लिए अनैतिक कदम उठाने के लिए तैयार होगा। 
· उसे इसमें कोई दिक् कत महसूस नहीं होगी।41 देशों की सूची में छठे से नौवें पायदान पर पहुंचा, भारतीय कंपनियों में सकारात्मक बदलाव आया
9. दक्षिण चीन सागर के द्वीपों पर सेना तैनात करेगा फिलीपींस
· फिलीपींस के राष्ट्रपति रोडिगो दुर्तेते ने विवादित दक्षिण चीन सागर के अनधिकृत और मनीला के दावे वाले द्वीपों पर सैन्य तैनाती का आदेश दिया है। यह एक ऐसा कदम है जो इस क्षेत्र पर दावा करने चीन समेत अन्य देशों को भड़का सकता है। 
· विवादित स्प्रैटली समूह के पास पश्चिमी द्वीप पलावन में सैन्य शिविर के दौरे पर आए दुर्तेते ने गुरुवार को कहा, ‘ऐसा लगता है कि यहां हर कोई द्वीपों पर कब्जा करने की फिराक में है। ऐसे में अच्छा होगा कि हम उन पर रहें, जो अब भी खाली हैं।’
· उन्होंने कहा कि मैने सैनिकों को फिलीपींस के दावे वाले द्वीपों और रीफ पर ढांचों का निर्माण करने का आदेश दिया है। 
· वे इन जगहों पर ढांचा खड़ा करें और फिलीपींस का झंडा लहराएं।’ उन्होंने बताया कि उनका देश दक्षिण चीन सागर के नौ या दस द्वीपों, रीफ और मूंगा की चट्टानों पर दावा करता है। वह अपने देश के दावे वाले द्वीप का 12 जून को दौरा कर सकते हैं। 
· इस दिन फिलीपींस का स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है।1फिलीपींस के इस कदम पर चीनी से तीखी प्रतिक्रिया आने की संभावना है। वह स्प्रैटली द्वीप समूह सहित पूरे दक्षिण चीन सागर पर अपना एकाधिकार बताता है। उसने कई कृत्रिम द्वीपों का निर्माण कर रखा है। 
· मनीला के दावे वाले द्वीपों समेत कई पर हथियार भी तैनात कर रखे हैं। इस क्षेत्र को लेकर चीन का अमेरिका से भी टकराव है, क्योंकि छोटे देशों और स्वतंत्र नौवहन के समर्थन में वह समय-समय पर इस इलाके में अपने पोत और विमान भेजता रहता है। 
· बीते साल जुलाई में हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय पंचाट ने फिलीपींस के हक में फैसला सुनाते हुए इस इलाके पर चीन का एकाधिकार खारिज कर दिया था। फैसले को ठुकराते हुए चीन ने अपनी गतिविधियां बढ़ा दी थी।
10. असद पर आर-पार के मूड में अमेरिका
· रासायनिक हमले ने सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन का रुख बदल दिया है। असद को सत्ता से हटाने पर जोर देते हुए रूस से सीरियाई सरकार को समर्थन पर दोबारा विचार करने को कहा है। साथ ही चेतावनी दी है कि यदि संयुक्त राष्ट्र ने अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाई तो वह अकेले कार्रवाई से भी नहीं हिचकेगा। 
· सीरिया के खान शेखहुन में मंगलवार को रासायनिक हमले में सौ लोगों की मौत हो गई थी और करीब चार सौ लोग जख्मी हो गए थे। हमले के लिए असद सरकार को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। इसके बावजूद रूस असद के साथ खड़ा है। 
· रूस से करीबी संबंधों के पक्षधर ट्रंप प्रशासन ने हाल में असद को लेकर अपना रुख नरम कर लिया था। लेकिन, खान शेखहुन की घटना ने वाशिंगटन का बदल दिया है।
· ट्रंप ने हमले को भयानक करार देते हुए कहा है कि इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा है कि सीरिया के खिलाफ कार्रवाई के सभी विकल्प खुले हैं। 
· विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने कहा है कि यह हमला असद की सरकार ने किया है इसमें कोई संदेह नहीं है। अब वक्त आ गया है कि रूस उसे समर्थन पर फिर से विचार करें। टिलरसन 12 अप्रैल को मॉस्को जाने वाले हैं। इससे पहले संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आपातकालीन बैठक में अमेरिकी दूत निक्की हेली ने कहा कि यदि वैश्विक संगठन अपनी जिम्मेदारी निभाने में नाकाम रहा तो अमेरिका अपने स्तर पर कार्रवाई को मजबूर होगा। 
· बैठक में अमेरिका ने ब्रिटेन और फ्रांस के साथ मिलकर एक निंदा प्रस्ताव भी पेश किया। ब्रिटेन और फ्रांस का कहना है कि एकतरफा सैन्य कार्रवाई से पहले यह प्रस्ताव पास होना चाहिए। लेकिन, रूस के रुख से यह मुमकिन नहीं लग रहा। रूसी विदेश मंत्रलय का कहना है कि हमले के लिए असद सरकार को जिम्मेदार ठहराना जल्दबाजी होगी। सीरियाई विदेश मंत्रलय ने भी हमले में सेना की भूमिका से इन्कार किया है।
11. वार्ता से आपसी मुद्दे सुलझाएं भारत-पाक : संयुक्त राष्ट्र
· भारत व पाकिस्तान संवाद के जरिए विवादित मुद्दों का शांतिपूर्वक समाधान निकालें। दोनों देशों को यह सलाह देते हुए संयुक्त राष्ट्र संघ महासचिव के एसोसिएट प्रवक्ता इरि कनेको ने कहा कि संघ का पर्यवेक्षक दल पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में कथित रूप से संघर्ष विराम उल्लंघन के मामले की जांच कर रहा है। हमारा लगातार इस मसले का सद्भावपूर्ण हल निकालने पर जोर है। 
· कनेको एक पत्रकार के उस सवाल का जवाब दे रहे थे जिसमें पाकिस्तान की ओर से जम्मू-कश्मीर की भारतीय सीमा की ओर पूंच सेक्टर में मोर्टार दागे जाने संबंधी बात कही गई थी। इस सप्ताह ही संयुक्त राष्ट्र संघ महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन डुजेरिक ने कहा था कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के डोमेल, कोटली व भिंबर में संघर्ष विराम तोड़े जाने की रिपोर्ट मिली है। इसकी जांच की जा रही है। 
· वैश्विक संगठन ने हाल ही में कश्मीर में पर्यवेक्षकों को काम नहीं करने देने के पाक के आरोप को खारिज किया था। 
· आपसी बातचीत से मतभेद सुलझाने की सलाह ऐसे वक्त में दी गई है जब पिछले दिनों भारत ने मध्यस्थता करने के अमेरिका के प्रस्ताव को नकार दिया था। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निक्की हेली ने इसकी इच्छा जताई थी। उन्होंने कहा था कि भारत पाक के बीच तनाव कम करने के प्रयासों में अमेरिका मध्यस्थता कर सकता है। 
· भारत ने तत्काल इस प्रस्ताव को खारिज करते हुए कहा था कि द्विपक्षीय तरीके से ही आतंकवाद सहित अन्य मसलों का समाधान संभव है। हालांकि पाकिस्तान ने इस प्रस्ताव का स्वागत किया था, क्योंकि अतीत में वह खुद इस तरह की मांग कर चुका है।
12. रेल डेवलपमेंट अथॉरिटी के गठन को कैबिनेट की मंजूरी, तय करेगा किराया
· केंद्रीय कैबिनेट ने देश में एक स्वतंत्र रेल नियामक बनाने को मंजूरी दे दी है। रेल डेवलपमेंट अथॉरिटी (आरडीए) के गठन से रेल किराया और मालभाड़ा के निर्धारण में पारदर्शिता लाई जा सकेगी। साथ ही रेलवे में निवेश की इच्छुक कंपनियों को सही माहौल मुहैया कराया जा सकेगा। 
· इसका उद्देश्य यात्री सेवाओं को बेहतर बनाना और जवाबदेही बढ़ाना भी है। रेल नियामक के गठन को रेलवे सेक्टर में अपनी तरह के पहले और अब तक के सबसे बड़ा सुधार के रूप में देखा जा रहा है। कैबिनेट के निर्णय के मुताबिक इसका गठन सरकार के कार्यकारी आदेश से होगा। 
· यह रेलवे एक्ट 1989 के मानकों के अंतर्गत काम करेगा। यह प्राधिकरण निवेश के लिए नीतियों के संबंध में सुझाव देगा। साथ ही रियायती समझौतों पर भविष्य में होने वाले विवादों का भी निपटारा करेगा।
13. रियल एस्टेट में बैंकों के निवेश का रास्ता खुला
· बैंक रियल एस्टेट इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट और इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट में निवेश कर सकेंगे। उन्हें इक्विटी लिंक्ड म्यूचुअल फंड, वेंचर कैपिटल फंड और इक्विटी में निवेश की इजाजत होगी। वे नेट ओन्ड फंड (पेडअप कैपिटल, रिजर्व और लांग टर्म लायबिलिटी) की 20% राशि इनमें लगा सकते हैं। 
· रिजर्व बैंक ने गुरुवार को घोषित मौद्रिक नीति समीक्षा में यह बात कही है। विस्तृत दिशानिर्देश मई तक जारी होंगे। सेबी इस बारे में पहले ही दिशानिर्देश जारी कर चुका है। उसने रिजर्व बैंक से बैंकों को इनमें निवेश की अनुमति देने का अनुरोध किया था। 
· आईसीआईसीआई बैंक की एमडी चंदा कोचर और बैंक ऑफ इंडिया के एमडी मेल्विन रेगो ने कहा कि इस फैसले से घरेलू फाइनेंशियल मार्केट का विस्तार होगा। एसोचैम प्रेसिडेंट संदीप जाजोदिया के अनुसार यह इन्फ्रास्ट्रक्चर और खासकर रियल्टी सेक्टर के लिए बहुत अच्छा है। 
· देना बैंक के सीएमडी अश्विनी कुमार ने कहा कि फाइनेंशियल इंडस्ट्री को निवेश का एक और रास्ता मिलेगा।