दैनिक समसामयिकी 03 जुलाई 2018

*ड्रग तस्करों को फांसी का प्रस्ताव*

पंजाब सरकार ने ड्रग तस्करों को फांसी की सजा देने का प्रस्ताव तैयार किया है। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बताया कि यह प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा गया है। मंत्रिमंडल की बैठक में यह फैसला लिया गया। पंजाब में नशाखोरी बड़ी समस्या है।

*श्रवण क्षमता खोने वाले फिर सुन सकेंगे*

अमरीकी विशेषज्ञों ने एक ऐसी दवा ईजाद की है, जिसकी मदद से सुनने की ताकत खो चुके लोग दुबारा सुन सकेंगे। इनका दावा है कि इस दवा को कानों के भीतर मौजूद बेहद अहम रोंए की कोशिकाओं की जीवित रखने वाले जींस को जगाए रखा जा सकेगा। यह अध्ययन नेशनल इंस्टीट्यूट आफ डेफनेस एंड अदर कम्यूनिकेशन डिसआॅर्डर के विशेषज्ञों की टीम ने किया है। अध्ययन के दौरान उन्होंने डीएफएनए27 जीन का पता लगाया जो आनुवांशिक बहरेपन के लिए जिम्मेदार होता है। यह शोध चुहों पर किया गया था।

*राजस्थान में शुरू होगी काउ सफारी*

हाथीगांव में हाथी सफारी के साथ ही अब प्रदेश में पहली बार लोग ‘काउ सफारी’ और बुल सफारी शुरू होगी। श्री कृष्ण बलराम सेवा ट्रस्ट की ओर से 40 लाख रूपए की लागत से बुरथल रोड स्थित हिंगोनिया गौशाला में सिंतबर माह में जन्माष्टमी के त्यौहार से काउ सफारी पर्यटकों के लिए नया आकर्षण का केन्द्र होगी।

*गिनीज बुक रेकाॅर्ड हाथ से बुना 1149 मीटर स्कार्फ*

कंबोडिया में हाथ से बुना सबसे लंबा स्कार्फ गिनीज बुक आफ वल्र्ड रेकाॅर्ड में दर्ज किया गया। 88 सेंटीमीटर चौड़े और 1149 मीटर लंबे स्कार्फ(स्कार्फ) को पूरा करने में पांच महीने का समय लगया। क्रामा खमेर की संस्कृति प्रतिबिंबित करता है।

*चीन ने बनाई घातक लेजर गन*

चीन ने सबसे घातक लेजर गन बनाई है जो 1 किमी. दूर लक्ष्य पर आग लगा देगी। इसका नाम जेडकेजेएम-500 है।

*मैक्सिको में 90 साल में पहली बार वामपंथी राष्ट्रपति*

मैक्सिको के 90 साल के इतिहास में पहली बार दोनों प्रमुख दलों को पीछे छोड़कर नेशनल रिजेेनरेशन मूवमेंट पार्टी के नेता ओब्राडोर ने 53 प्रतिशत मतों के साथ चुनाव जीता।

*दिल्ली में हैप्पीनेस पाठ्यक्रम की शुरूआत*

दिल्ली सरकार की ओर से स्कूली छात्रों के लिए हैप्पीनेस पाठ्यक्रम की शुरूआत की गई, इस कोर्स से बच्चों को मानसिक सुख महसूस करने में मदद मिलेगी यह पाठ्यक्रम आठवीं तक के बच्चों के लिए लागू किया गया है। इस कार्यक्रम में तिब्बत की निर्वासित सरकार के प्रमुख दलाई लामा, सीएम अरविंद केजरीवाल आदि ने विचार व्यक्त किए।

*पानी की समस्या दूर करने 12 हजार किमी. से हिमखंद खींचकर लाएगा यूएई*

संयुक्त अरब अमीरात ने देश में पानी की किल्लत दूर करने के लिए 12 हजार किमी. दूर अंटार्कटिका से जहाजों के जरिए आइसबर्ग लाने की योजना बनाई है। प्रोजेक्ट की लागत करीब 825 करोड़ रूपए बताई जा रही है। इस परियोजना की शुरूआत 2019 से होगी।

*अमेरिका से अलग भारत समेत 16 देश बना सकते हैं सबसे बड़ा कारोबारी समूह, दायरे में आएगी एक तिहाई अर्थव्यवस्था*

भारत, जापान और चीन समेत 16 देशों ने मिलकर दुनिया का सबसे बड़ा कारोबारी गुट बनाने के लिए एकजुटता दिखाई है। इसमें अमेरिका शामिल नहीं होगा। रीजनल कॉम्प्रिहेन्सिव इकोनॉमिक पार्टनरशिप (आरसीईपी) वाले 16 देशों के मंत्रियों की टोक्यो में मीटिंग हुई, जिसमें इस मुद्दे पर मतभेद दूर करने की कोशिश की गई। इस साल के आखिर तक ये डील होने की उम्मीद जताई गई है। ये पार्टनरशिप हुई तो इसमें दुनिया की एक तिहाई इकोनॉमी और आधी आबादी कवर हो जाएगी। भारत ने कहा है कि टैरिफ घटाने के लिए जो भी समझौता किया जाए, उसके तहत लोगों को एक-दूसरे के देशों में बेरोकटोक आवाजाही की इजाजत भी होनी चाहिए। आरसीईपी के तहत दुनिया के 16 देश इस दिशा में आगे जो भी कदम उठाएंगे, उससे अमेरिका पर टीपीपी (ट्रांस पैसिफिक पार्टनरशिप) में फिर से शामिल होने का दबाव बढ़ सकता है। अमेरिका इस साल मार्च में इस पार्टनरशिप से बाहर हो गया था। साल 2016 में अमेरिका समेत 12 देशों के बीच ये करार हुआ था, जिसके तहत सभी सदस्य देशों ने आपसी व्यापार और निवेश संबंधी बाधाएं दूर करने का वादा किया था।