दैनिक समसामयिकी 04 फ़रवरी 2019

श्रम मंत्रालय ने खदानों में महिलाओं को रोजगार की अनुमति देने हेतु नियम अधिसूचित किए

केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने 04 फरवरी 2019 को खदानों में महिलाओं की नियुक्ति करने की अधिसूचना जारी कर दी है जिसके बाद महिलाओं को भी खनन कार्य में रोजगार के अवसर उपलब्ध हो गए हैं.

मंत्रालय ने बताया कि सरकार के इस कदम से महिला सशक्तिकरण को प्रोत्साहन मिलेगा और उनको खनन क्षेत्र में रोजगार के समान अवसर उपलब्ध होंगे. अधिसूचना के अनुसार, कंपनियां या नियोक्ता को खदानों में महिला कर्मचारियों की अनुमति दे दी गई है. महिलाओं की नियुक्ति खदान के भीतर तथा खदान के ऊपर की जा सकती है.

विश्व कैंसर दिवस 04 फरवरी को मनाया गया

विश्व भर में 04 फरवरी 2019 को विश्व कैंसर दिवस (डब्ल्यूसीडी) मनाया गया. साल 2019 से 2021 तक तीन साल के लिए विश्व कैंसर दिवस का विषय रखा गया है. यह विषय “मैं हूं और मैं रहूंगा (I Am And I Will)” है. इसी थीम के अनुसार इन तीन सालों में कार्यक्रम होंगे.

इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य कैंसर के बारे में जागरूकता उत्पन्न करना और रोग का जल्दी पता लगाने की जरूरत तथा कैंसर के उपचार पर ध्यान केंद्रित करना है. इसका उद्देश्य विश्व में प्रत्येक वर्ष लाखों लोगों को कैंसर के कारण होने वाली मृत्यु से बचाना भी है.

ऋषि कुमार शुक्ला सीबीआई के नये निदेशक नियुक्त

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने 02 फरवरी 2019 को आईपीएस अधिकारी ऋषि कुमार शुक्ला को भारत की प्रमुख जांच एजेंसी केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) का नया निदेशक नियुक्त किया है.

सीबीआई प्रमुख का पद पूर्व निदेशक आलोक वर्मा का तबादला होने के बाद 10 जनवरी से रिक्त पड़ा था. अब मध्य प्रदेश के डीजीपी रहे ऋषि कुमार शुक्ला को इस पद की ज़िम्मेदारी दी गई है.

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा जम्मू-कश्मीर में 44,000 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लेह, जम्मू एवं श्रीनगर की अपनी एक दिवसीय यात्रा के पहले चरण में 03 फरवरी 2019 को लद्दाख पहुंचे. लद्दाख में प्रधानमंत्री मोदी ने 44,000 करोड़ रुपये की विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया.

प्रधानमंत्री मोदी ने लद्दाख विश्वविद्यालय का उद्घाटन किया और कहा, “युवा छात्र लद्दाख की आबादी के 40% हिस्सा हैं. इस क्षेत्र में विश्वविद्यालय की लंबे समय से मांग रही है.” यह विश्वविद्यालय लेह, कारगिल, नुब्रा, ज़ांस्कर और द्रास के डिग्री महाविद्यालयों से निर्मित एक क्लस्टर विश्वविद्यालय होगा और छात्रों की सुविधा के लिए लेह और कारगिल में प्रशासनिक कार्यालय होंगे.

जानिए INF संधि क्या है और अमेरिका क्यों इससे अलग हुआ?

इंटरमीडिएट रेंज न्यूक्लियर फोर्सेज़ (आईएनएफ) को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने 02 फरवरी 2019 को स्थगित कर दिया. इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने संधि से अलग होने और इसे स्थगित करने की घोषणा की थी. अमेरिका ने रूस को चेतावनी दी थी कि यदि रूस इस संधि का उलंघन जारी रखता है तो अगले 6 महीने के भीतर ही अमेरिका इस संधि से बाहर निकल सकता है.

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो द्वारा जारी बयान में कहा गया कि प्रशासन कि ओर से रूस को एक औपचारिक नोटिस भेजा जायेगा कि यदि वह इस संधि का पालन नहीं करेगा तो अमेरिका इस संधि को खत्म करके इससे बाहर निकल जायेगा. इसके बाद रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने रूस के विदेश मंत्री और रक्षा मंत्री के साथ एक टीवी प्रसारण के माध्यम से लोगों को बताया कि अमेरिका इस संधि का खत्म करना चाहता है लेकिन इससे पहले हम ही इस संधि को खत्म करते हैं.