दैनिक समसामयिकी 07 सितंबर 2018

दिलबाग सिंह जम्मू-कश्मीर के नए डीजीपी नियुक्त

जम्मू-कश्मीर सरकार ने 06 सितंबर 2018 को दिलबाग सिंह को राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) नियुक्त किया हैं. राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से डीजीपी की नियुक्ति के लिए यूपीएससी की क्लीयरेंस की छूट मांगी है.

सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि कोर्ट के आदेश के मुताबिक डीजीपी की नियुक्ति के लिए यूपीएससी को पैनल की लिस्ट भेजी जानी होती है. सरकारी आदेश के अनुसार, नियमित व्यवस्था किए जाने तक, जम्मू-कश्मीर के महानिदेशक (जेल) दिलबाग सिंह को पुलिस महानिदेशक का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है.

भारतीय लड़ाकू विमान तेजस ने पहली बार हवा में ईंधन भरने का सफल परीक्षण किया

भारतीय वायुसेना (आईएएफ) ने 05 सितम्बर 2018 को बताया कि उसने स्वदेश निर्मित हल्के लड़ाकू विमान ‘तेजस’ में पहली बार सफलतापूर्वक हवा में ही ईंधन भरा. रूस निर्मित आईएल-78 एमकेआई टैंकर ने तेजस एमके आई के एक विमान में ईंधन भरा. इस दौरान एक अन्य तेजस विमान इस पूरी प्रक्रिया पर कड़ी नजर रखे हुए था.

भारतीय वायुसेना (आईएएफ) वर्तमान में एक प्रारंभिक ऑपरेटिंग क्लीयरेंस (आईओसी) मानक में निर्मित नौ तेजस लड़ाकू विमानों का संचालन करती है. इन जेटों को तमिलनाडु के सुलूर वायुसेना स्टेशन पर आधारित नंबर 45 स्क्वाड्रन, फ्लाइंग डैगर्स द्वारा उड़ाया जा रहा है.

बिमल जालान मुख्य आर्थिक सलाहकार चयन समिति के अध्यक्ष घोषित

केंद्र सरकार ने भारतीय रिज़र्व बैंक के पूर्व गवर्नर बिमल जालान को मुख्य आर्थिक सलाहकार चयनित करने हेतु बनाई गयी समिति का अध्यक्ष घोषित किया है. दो माह पूर्व अरविन्द सुब्रमणियन द्वारा पद से इस्तीफ़ा दिए जाने के बाद यह पैनल गठित किया गया है.

बिमल जालान के अतिरिक्त, कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग के सचिव सी चंद्रमौली और आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग पैनल के सदस्य होंगे जो साक्षात्कार प्राप्त करने और साक्षात्कार आयोजित करने के लिए कार्यरत होंगे.

बीईएल को नेवी के लिए मिसाइल बनाने का अनुबंध प्राप्त हुआ

भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) को 05 सितंबर 2018 को भारतीय नौसेना के लिए लम्बी दूरी की जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल (एलआरएसएएम) बनाने हेतु अनुबंध प्राप्त हुआ है.

बीईएल के साथ किये गये इस समझौते की लागत 9,200 करोड़ रुपये है. बीईएल का यह समझौता मैज़गौन डॉक लिमिटेड (एमडीएल) एवं गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजिनियर्स (जीआरएसई) के साथ हुआ है. भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) द्वारा बनाई जाने वाली मिसाइलें (एलआरएसएएम) सात नौसेनिक जहाजों पर तैनात की जायेंगी.

भारत और फ्रांस ने गगनयान मिशन के लिए समझौता किया

भारत और फ्रांस ने अंतरिक्ष तकनीक क्षेत्र में सहयोग बढ़ाते हुए 06 सितंबर 2018 को गगनयान पर साथ मिलकर काम करने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किये. इस समझौते के पश्चात् भारत और फ्रांस ने गगनयान के लिए एक कार्यकारी समूह की घोषणा भी की.

फ्रांसीसी अंतरिक्ष एजेंसी के अध्यक्ष जीन येव्स ली गॉल द्वारा बेंगलुरु स्पेस एक्सपो के छठे संस्करण के दौरान घोषणा की गयी. भारत की 2022 से पहले अंतरिक्ष में तीन मनुष्यों को भेजने की योजना है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस पर इसरो के पहले मानवयान मिशन की घोषणा की थी.