दैनिक समसामयिकी 10 मार्च 2019

मॉन्स्टर वेतन सूचकांक रिपोर्ट

मॉन्स्टर वेतन सूचकांक रिपोर्ट को मॉन्स्टर इंडिया द्वारा paycheck.in तथा IIM-अहमदाबाद के साथ मिलकर तैयार किया गया है। इस सर्वेक्षण रिपोर्ट के अनुसार भारत में पुरुषों का सकल प्रति घंटा वेतन 2018 में 242.49 रुपये जबकि महिलाओं का प्रति घंटा वेतन 196.3 रुपये है। भारत में पुरुषों व महिलाओं के बीच वेतन को लेकर 19% का अंतर है। वेतन में यह असमानता लगभग सभी सेक्टरों में मौजूद है। भारत में लैंगिक आधार पर वेतन असमानता 19% है, औसतन पुरुष महिलाओं की अपेक्षा 46.19 रुपये प्रति घंटा अधिक कमाते हैं। आईटी क्षेत्र में वेतन असमानता 26% तथा विनिर्माण क्षेत्र में यह असमानता 24% है। हेल्थकेयर तथा सामाजिक कार्य के क्षेत्र में भी महिलाओं का वेतन पुरुषों के मुकाबले 21% कम है। वित्तीय सेवा, बैंकिंग तथा बीमा उद्योग में पुरुषों का वेतन महिलाओं की अपेक्षा 2% अधिक है। इस रिपोर्ट के अनुसार यह वेतन असमानता समय व अनुभव में वृद्धि के साथ बढ़ती जाती है। 2017 में महिलाओं व पुरुषों के बीच वेतन असमानता 20% थी।

प्रधानमंत्री मोदी ने किया नागपुर मेट्रो का उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नागपुर में मेट्रो का उद्घाटन किया, इसके साथ ही नागपुर महाराष्ट्र का दूसरा मेट्रो युक्त शहर बन गया है। महिला सुरक्षा तथा सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए प्रत्येक ट्रेन में एक विशेष “नारी शक्ति” महिला कोच होगी। नागपुर मेट्रो को ग्रीन मेट्रोभी कहा जाता है क्योंकि इसकी आवश्यकता की 65% विद्युत् का उत्पादन सौर उर्जा से किया जायेगा। यात्रियों की आवाजाही से पहले ही नागपुर मेट्रो ने स्टैम्प ड्यूटी से 51 करोड़ रुँपये तथा विकास अधिकार के हस्तांतरण से 6.87 करोड़ रुपये कमा लिए हैं।

भारत ने रूस के साथ चक्र III पनडुब्बी के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये

भारत और रूस ने परमाणु पनडुब्बी को लीज पर लेने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये। इस समझौते के तहत भारतीय नौसेना को 10 वर्ष की लीज पर चक्र III पनडुब्बी उपलब्ध करवाई जायेगी। इससे पहले भी भारत ने रूस से दो परमाणु पनडुब्बियां लीज पर ली थीं। आईएनएस चक्र को 1988 में तीन वर्ष की लीज पर लिया गया था जबकि दूसरी आईएनएस चक्र पनडुब्बी को 2012 में 10 वर्ष के लिए लीज पर लिया गया था। रूस भारत को 3 अरब डॉलर राशि पर 10 वर्ष की अवधि के लिए अकुला श्रेणी की पनडुब्बी( इस पनडुब्बी को चक्र III के नाम से भी जाना जाता है।) लीज पर देगा। चक्र III पनडुब्बी में भारतीय संचार प्रणाली व सेंसर लगे होंगे, इसमें भारतीय USHUS सोनार तथा पंचेन्द्रिय सोनार लगे होंगे। चक्र III का भार लगभग 8,140 टन है, यह जल के भीतर 30 नॉट की गति से आगे बढ़ सकती है। यह पनडुब्बी 530 मीटर की गहराई पर कार्य कर सकती है। यह पनडुब्बी अपने साथ 73 सदस्यीय क्रू को ले जाने में सक्षम है।

कर मुक्त ग्रेच्युटी की सीमा को बढ़ाकर 20 लाख रुपये किया गया

सरकार ने कर मुक्त ग्रेच्युटी की सीमा को दोगुना करके 20 लाख रुपये कर दिया है, इससे सरकारी तथा प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों को लाभ होगा। ग्रेच्युटी एक किस्म का मौद्रिक लाभ है जो रोज़गार प्रदाता (एम्प्लायर) द्वारा कर्मचारी को प्रदान किया जाता है। ग्रेच्युटी का लाभ प्राप्त करने के लिए एक संगठन में न्यूनतम पांच वर्ष की सेवा अनिवार्य है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 44 महिलाओं को नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 8 मार्च, 2019 को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर 44 महिलाओं को नारी शक्ति पुरस्कार 2018 से सम्मानित किया। गौरतलब है कि नारी शक्ति पुरस्कार के लिए 1000 से अधिक नामांकन प्रस्तुत किये गये थे। यह पुरस्कार केन्द्रीय महिला एवं बाल कल्याण मंत्रालय की ओर से उन महिलाओं व संस्थानों को प्रदान किये गये जिन्होंने महिला सशक्तिकरण तथा सामाजिक कल्याण के लिए कार्य किया। नारी शक्ति पुरस्कार 2018 से सम्मानित की जानी वाली कुछ प्रमुख हस्तियाँ इस प्रकार हैं : DRDO वैज्ञानिक इप्सिता बिस्वास, भारत की पहली समुद्री पायलट रेशमा निलोफर नाहा, कृषि जैव विविधता विशेषज्ञ रहीबाई सोमा पोपेरे, एसिड अटैक सर्वाइवर प्रज्ञा प्रसून, महिला कमांडो प्रशिक्षक सीमा राव तथा मोटिवेशनल स्पीकर सिस्टर शिवानी। इस बार कुछ एक संगठनों को भी प्रदान किया गया : वन स्टॉप सेंटर (लखनऊ), कसब कच्छ क्राफ्ट्सवुमन प्रोडूसर तथा तमिलनाडु का सामाजिक कल्याण व पौष्टिक भोजन कार्यक्रम विभाग। नारी शक्ति पुरस्कारों को 1991 में शुरू किया था और तब से हर साल 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति द्वारा महिलाओं को सम्मानित किया जाता है। इसमें 1 लाख रुपये का नकद पुरस्कार और व्यक्तियों और संस्थानों के लिए प्रमाण पत्र दिये जाते है महिला एवं बाल विकास मंत्रालय महिलाओं, संगठनों और संस्थानों के लिए राष्ट्रीय स्तर के पुरस्कारों की घोषणा करता है।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना : सरकार ने 7 करोड़ निशुल्क एलपीजी कनेक्शन का लक्ष्य किया पूरा

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों की संख्या 7 करोड़ के पार पहुँच गयी है। 8 मार्च, 2019 को पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने उज्ज्वला योजना के 7 करोड़वें लाभार्थी को गैस कनेक्शन प्रदान किया। अगस्त, 2018 में उज्ज्वला योजना के तहत लक्ष्य के अनुसार 5 करोड़ निशुल्क एलपीजी कनेक्शन का लक्ष्य पूरा कर लिया गया था। सरकार ने यह लक्ष्य निर्धारित समय सीमा से लगभग 8 महीने पहले ही प्राप्त कर लियाथा। इसके लिए आरम्भ में 35 महीने का समय निर्धारित किया गया था, परन्तु सरकार ने इस लक्ष्य को 27 महीने में ही प्राप्त कर लिया गया। केंद्र सरकार ने मई, 2016 में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना लॉन्च की थी, इसकी टैगलाइन ‘स्वच्छ इंधन, बेहतर जीवन’ है। इसका उद्देश्य घरेलु उपयोग के लिए स्वच्छ इंधन प्रदान करना है। इस योजना को पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने OIC, BPCL और HPCL तेल मार्केटिंग कंपनियों द्वारा क्रियान्वित किया। यह योजना सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में लागू की गयी थी।

इडुक्की की मरयूर गुड़ को मिला भौगोलिक संकेत (GI) टैग

केरल के इडुक्की जिले की मरयूर गुड़ को हाल ही में भौगोलिक संकेत (GI) टैग प्रदान किया गया। मरयूर गुड़ का निर्माण पारंपरिक विधि द्वारा किया जाता है। वर्तमान में किसानों को मरयूर गुड़ के लिए प्रति किलो 45 से 47 रुपये का दाम मिलता है, परन्तु इसकी अपेक्षित कीमत 80-100 रुपये प्रति किलोग्राम है। GI टैग अथवा पहचान उस वस्तु अथवा उत्पाद को दिया जाता है जो कि विशिष्ट क्षेत्र का प्रतिनिधत्व करती है, अथवा किसी विशिष्ट स्थान पर ही पायी जाती है अथवा वह उसका मूल स्थान हो। GI टैग कृषि उत्पादों, प्राकृतिक वस्तुओं तथा निर्मित वस्तुओं उनकी विशिष्ट गुणवत्ता के लिए दिया जाता है। यह GI पंजीकरण 10 वर्ष के लिए वैध होता है, बाद में इसे रीन्यू करवाना पड़ता है। कुछ महत्वपूण GI टैग प्राप्त उत्पाद दार्जीलिंग चाय, तिरुपति लड्डू, कांगड़ा पेंटिंग, नागपुर संतरा तथा कश्मीर पश्मीना इत्यादि हैं।

अमेरिकी कंपनी ने भारतीय जिम्नास्ट दीपा कर्माकर जैसी बार्बी डॉल बनाई

खिलौने बनाने वाली अमेरिकी कंपनी मेटेल अपनी 60वीं एनिवर्सरी मना रही है। इसी मौके पर कंपनी ने 17 देशों की 19 सफल महिलाओं की बार्बी डॉल बनाई है। कंपनी ने युवाओं को इंस्पायर करने के लिए ऐसा किया। इसमें भारतीय जिम्नास्ट दीपा कर्माकर भी शामिल हैं। दीपा रियो ओलिंपिक में एक पॉइंट से ब्रॉन्ज मेडल चूक गई थीं। वे ओलिंपिक में हिस्सा लेने वाली पहली भारतीय जिम्नास्ट थीं।

राजस्थान में तय होगी अफसरों की जवाबदेही

राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने ‘जवाबदेही कानून’ को धरातल पर उतारने के लिए कदम बढ़ा दिया है। राज्य के विधि विभाग ने जवाबदेही कानून को अध्यादेश के जरिये मंजूरी दे दी है। इसके बाद अफसरों को बताना होगा कि फाइल क्यों अटकी ? जवाबदेही कानून को धरातल पर उतारने वाला राजस्थान देश का पहला राज्य होगा।

नारी शक्ति पुरस्कार से नवाजी गई बाड़मेर की रुमा देवी, राष्ट्रपति ने किया सम्मानित

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर सरहदी रेगिस्तानी जिले बाड़मेर की ग्रामीण विकास एवं चेतना संस्थान की अध्यक्ष रुमा देवी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा राष्ट्रपति भवन में भारत में महिलाओं के सर्वोच्च नागरिक सम्मान “नारी शक्ति पुरस्कार” प्रदान कर सम्मानित किया गया द्य पुरस्कार में उन्हें प्रशस्ति पत्र के साथ एक लाख रुपये की राशि प्रदान की गई । राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा राष्ट्रपति भवन में आयोजित सम्मान समारोह में देशभर की चुनिदा 41 महिलाओं व 3 संस्थानों को यह सम्मान प्रदान किया गया। महिला व बाल विकास मंत्रालय महिला शक्तिकरण के क्षेत्र में विशेष योगदान देने वाली महिलाओं को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर नारी शक्ति पुरस्कार प्रदान करती है। रुमा देवी ने ग्रामीण विकास एवं चेतना संस्थान के माध्यम से बाड़मेर जिले में हस्तशिल्प का कार्य करने वाली हजारों महिला दस्तकारों को सशक्त करने का कार्य किया है द्य दूर दराज ढाणीयो में जाकर इन्होने खत्म हो रही एप्लीक एंब्रोडरी कला को नवाचार के माध्यम से पुनर्जवित कर यह कार्य करने वाली हजारों महिला दस्तकारों के जीवन में खुशियों भर दी है। इन्होने इस कला को देश-विदेश के फेशन रेम्प तक पहुचा कर महिला दस्तकारों को नवीन विकल्प प्रदान किया। हजारों महिला दस्तकारों को प्रशिक्षण प्रदान कर उनके कौशल को उन्नत तकनीकी प्रदान की है, जिससे हजारों परिवार लाभान्वित हुए है।महज आठवीं तक स्कूली शिक्षा ग्रहण कर पाई रूमा देवी अपने उल्लेखनीय कार्यो के लिए कई राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय पुरस्कार व सम्मान पाकर अपने राज्य ओर देश का नाम रोशन कर चुकी है।

राजस्थान पर्यटन को मिला बर्लिन में सर्वश्रेष्ठ हेरिटेज डेस्टिनेशन का पुरस्कार

बर्लिन (जर्मनी) में चल रहे अन्तर्राष्ट्रीय पर्यटन सम्मेलन, आई.टी.बी. में राजस्थान पर्यटन को सर्वश्रेष्ठ हेरिटेज डेस्टिनेशन पुरस्कार से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार पेसेफिक एरिया ट्रैवल राइटर्स एसोसिएशन के बर्लिन में आयोजित वार्षिक पुरस्कार समारोह के दौरान राज्य की प्रमुख शासन सचिव, पर्यटन श्रीमती श्रेया गुहा ने प्राप्त किया। राजस्थान पर्यटन द्वारा बर्लिन, जर्मनी में 6 से 10 मार्च तक चल रहे अन्तर्राष्ट्रीय पर्यटन सम्मेलन में भाग लिया जा रहा है। यह सम्मेलन विश्व का सबसे बड़ा पर्यटन मेला है, जिसमें 180 देशों के प्रतिनिधियों द्वारा भाग लिया जाता है। राजस्थान पर्यटन द्वारा इस सम्मेलन में आकर्षक पैवेलियन की स्थापना कर पर्यटन क्षेत्र के निजी सहभागियों के साथ राजस्थान का प्रचार प्रसार किया जा रहा है। इस सम्मेलन में श्रीमती श्रेयागुहा, प्रमुख शासन सचिव, पर्यटन एवं श्रीमती पुनीता सिंह, संयुक्त निदेशक, पर्यटन द्वारा राजस्थान का प्रतिनिधित्व किया जा रहा है।

श्री ओम थानवी हरिदेव जोशी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के प्रथम कुलपति नियुक्त

राज्यपाल श्री कल्याण सिंह ने श्री ओम थानवी को हरिदेव जोशी पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय, जयपुर का प्रथम कुलपति नियुक्त किया है। श्री थानवी की यह नियुक्ति उनके कार्यग्रहण करने की तिथि से तीन वर्ष की अनधिक अवधि के लिए होगी। देश के मूर्धन्य पत्रकारों में शामिल श्री थानवी को पत्रकारिता का लगभग चालीस साल का लंबा अनुभव है। वे 26 साल तक प्रमुख हिन्दी दैनिक जनसत्ता में पत्रकारिता कर चुके हैं। उन्होंने जनसत्ता मेंं स्थानीय सम्पादक और कार्यकारी सम्पादक के रूप में कार्य किया। श्री थानवी देश के प्रतिष्ठित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के मीडिया अध्ययन केन्द्र में विजिटिंग प्रोफेसर के रूप में पत्रकारिता के शिक्षण कार्य से भी जुड़े रहे हैं। वे राजस्थान पत्रिका समूह में सम्पादकीय सलाहकार के रूप में सेवाएं दे चुके हैं।