दैनिक समसामयिकी 12 मार्च 2019

विश्व बैंक ने भारत के 220 बांधों के लिए 137 मिलियन डॉलर का वित्तपोषण दिया

विश्व बैंक ने बांध पुनर्वास और सुधार परियोजना (DRIP) के तहत छह राज्यों में 220 से अधिक बड़े बांधों के पुनर्वास और आधुनिकीकरण के लिये 137 मिलियन डॉलर (लगभग 960 करोड़ रुपए) का अतिरिक्त वित्तपोषण प्रदान किया है.

यह बांध कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, ओडिशा, तमिलनाडु और उत्तराखंड में स्थित हैं. पूर्व में विश्व बैंक ने डीआरआईपी के तहत वित्तपोषण के लिये 350 मिलियन डॉलर (लगभग 2450 करोड़ रुपए) की मंज़ूरी दी थी.

प्रधानमंत्री मोदी और शेख हसीना ने चार परियोजनाओं का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेशी पीएम शेख हसीना ने 11 मार्च 2019 को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए संयुक्त रूप से बांग्लादेश में चार परियोजनाओं का उद्घाटन किया. इस मौके पर पीएम मोदी के साथ विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी मौजूद थीं.

यह कार्यक्रम दोनों देशों के संबंधों को आगे बढ़ाने में सहायक होगा. प्रधानमंत्री मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने सड़क परिवहन, स्वास्थ्य और शिक्षा क्षेत्र की चार परियोजनाओं का संयुक्त रूप से उद्घाटन किया.

भारत विश्व में दूसरा सबसे बड़ा हथियार आयातक देश: SIPRI रिपोर्ट

स्वीडन के थिंक टैंक स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टिट्यूट (SIPRI) ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट में कहा है कि भारत हथियार आयात करने वाले देशों में दूसरे स्थान पर आता है. SIPRI द्वारा प्रकाशित इस रिपोर्ट को Trends in International Arms Transfers-2018 शीर्षक के तहत प्रकाशित किया गया.

रिपोर्ट में वर्ष 2014 से 2018 का अध्ययन किया गया है तथा इसी आधार पर रिपोर्ट जारी की गई है. रिपोर्ट में कहा गया है कि इन वर्षों के दौरान सऊदी अरब विश्व का सबसे बड़ा हथियार आयातक देश बन कर उभरा है जबकि भारत दूसरे स्थान पर रहा. लगभग 10 वर्षों तक भारत इस सूची में प्रथम स्थान पर रहा था.

DRDO ने पिनाक मल्टी बैरल रॉकेट प्रणाली का सफल परीक्षण किया

भारतीय रक्षा अनुसंधान संगठन (DRDO) ने 11 मार्च 2019 को स्वदेश निर्मित मल्टीबैरल पिनाक रॉकेट प्रणाली का सफल परीक्षण किया है. यह लंबी दूरी से दुश्मन के ठिकानों को ध्वस्त करने में सक्षम है. इस रॉकेट प्रणाली के दो परीक्षण किए गए जो कि पूरी तरह से सफल रहे. डीआरडीओ द्वारा जारी जानकारी के अनुसार हथियार प्रणाली के यह टेस्ट पोखरण रेंज में किए गए. यह हथियार भारतीय सेना की आर्टिलरी में नई जान फूंकने में सक्षम है.

विदित हो कि पिनाक एक मल्टी बैरल रॉकेट है, जिसके प्रारंभिक प्रारूप का विकास वर्ष 1995 में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने किया. पिनाक को प्रारंभिक दौर में दुश्मन की सेना के वायुयान पत्तन (एयर टर्मिनल) एवं संचार केंद्र ध्वस्त करने हेतु विकसित किया गया था, आगे चलकर इसे बहुउद्देशीय रॉकेट प्रणाली के रूप में विकसित किया जा चुका है.

Padma Awards 2019: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 55 पद्म पुरस्कार प्रदान किये

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अभिनेता प्रभु देवा, गायक शंकर महादेवन, पहलवान बजरंग पुनिया और पत्रकार कुलदीप नैयर (मरणोपरांत) समेत 55 व्यक्तियों को 11 मार्च 2019 को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया. देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मानों में शामिल पद्म पुरस्कार तीन श्रेणियों- पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री में दिए जाते हैं.

लेखन एवं रंगमंच से जुड़े बाबासाहेब उर्फ बलवंत मोरेश्वर पुरंदर को पद्म विभूषण प्रदान किया गया. हालाँकि वह पुरस्कार प्राप्त करने के लिए उपस्थित नहीं हो सके. इसके अलावा कुलदीप नैयर (मरणोपरांत) तथा हुक्मदेव नारायण यादव समेत आठ लोगों को पद्मभूषण और 46 लोगों को पद्मश्री से सम्मानित किया गया.