दैनिक समसामयिकी 16 नवम्बर 2018

जय श्रीराम के नारों से शुरू हुई रामायण एक्सप्रेस

दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से रामायण सर्किट पर दौड़ने वाली विशेष पर्यटक ट्रेन श्री रामायण एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। ये ट्रेन तमिलनाडु के रामेश्वरम तक की यात्रा 16 दिन में पूरी करेगी, और इस दौरान भगवान राम के जीवन से जुड़े सभी महत्वपूर्ण स्थानों पर जाएगी. श्री रामायण एक्सप्रेस अपनी पहली यात्रा पर 800 यात्रियों के साथ रवाना हुई है। भारत में दिल्ली से चलने के बाद श्री रामायण एक्सप्रेस का पहला स्टॉप अयोध्या में होगा, जिसके बाद यह यात्रियों को हनुमान गढ़ी रामकोट तथा कनक भवन मंदिर भी लेकर जाएगी। इसके बाद ट्रेन रामायण सर्किट के महत्वपूर्ण स्टेशनों नंदीग्राम, सीतामढ़ी, जनकपुर, वाराणसी, प्रयाग, शृंगवेरपुर, चित्रकूट, नासिक, हम्पी तथा रामेश्वरम भी जाएगी। श्री रामायण यात्रा के दौरान श्रीलंका जाने का विकल्प चुनने वाले यात्री चेन्नई से कोलम्बो के लिए उड़ान ले सकते हैं.

महाराष्ट्र होगा सूरजकुंड मेले का थीम स्टेट

सूरजकुंड में पर्यटन विभाग की ओर से आयोजित किए जाने वाले 33वें अंतराष्ट्रीय हस्तशिल्प मेले में महाराष्ट्र दूसरी बार थीम स्टेट बनने जा रहा है। इससे पहले 2006 में भी महाराष्ट्र थीम स्टेट था। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस मेले का शुभारंभ कर सकते हैं। 1 से 17 फरवरी तक चलने वाले इस मेले में थाइलैंड पहली बार पार्टनर कंट्री के तौर पर भाग लेगा।

रणजी ट्रॉफी / जलज ने दूसरी बार एक ही मैच में शतक और 8+ विकेट लिए, ऐसा करने वाले पहले क्रिकेटर

तिरुवनंतपुरम. केरल टीम के ऑलराउंडर जलज सक्सेना रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट के किसी एक मैच में शतक लगाने और आठ से ज्यादा विकेट लेने वाले पहले क्रिकेटर बन गए हैं। उन्होंने यहां टूर्नामेंट के एलीट ग्रुप बी के राउंड-2 के मैच में आंध्र प्रदेश के खिलाफ यह उपलब्धि अपने नाम की। उन्होंने पिछले साल रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट में राजस्थान के खिलाफ ग्रुप बी के मैच में ऐसा ही कारनामा किया था।

44 साल बाद हुई भारत में जावा मोटरसाइकिल की वापसी

50-70 के दशक में लोगों के दिलों पर राज करने वाली जावा मोटरसाइकिल में लगभग 44 साल बाद भारत में फिर से वापसी कर ली है। इस मोटरसाइकिल का प्रोडक्शन 1974 में बंद हो गया था जिसके बाद इसे येजदी नाम से बेचा जाने लगा था। जावा की इन मोटरसाइकिल को मध्यप्रदेश के पीथमपुर में मैन्युफैक्चर किया जाएगा। जिसकी डिलेवरी 2019 में शुरू होगी।

सरकार द्वारा मातृत्व अवकाश में से सात हफ्ते का वेतन नियोक्ताओं को वापिस देने की घोषणा

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने 15 नवम्बर 2018 को घोषणा की है कि 15 हजार रुपये से अधिक मासिक वेतन पाने वाली महिलाओं को मिलने वाले मातृत्व अवकाश के 7 हफ्ते का वेतन सरकार नियोक्ता कंपनी को वापस करेगी.

इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि कंपनी की तरफ से गर्भवती महिला को छुट्‌टी देने में आनाकानी न की जाए. साथ ही कंपनियां भी वित्तीय नुकसान की चिंता छोड़ सकें. यह नियम प्राइवेट और सरकारी दोनों कंपनियों के लिए लागू होगा. मंत्रालय का तर्क है कि उन्होंने 14 सप्ताह की अतिरिक्त मैटरनिटी लीव का प्रावधान दिया था. इसलिए अब महिला की इन 14 में से आधे यानी 7 हफ्तों की सैलरी के लिए वह कंपनी को भुगतान कर देगी, ताकि महिलाओं को प्रेगनेंसी के बाद काम पर लौटने में दिक्कतों का सामना न करना पड़े.

दिल्ली पुलिस ने कर्मचारियों के प्रशिक्षण हेतु ‘निपुण’ पोर्टल लॉन्च किया

दिल्ली पुलिस ने अपने जवानों को ज्यादा प्रोफेशनल और जनता के प्रति ज्यादा संवेदनशील बनाने के लिए उनके प्रशिक्षण में विशेष गतिविधियों को शामिल करने की प्रक्रिया शुरु कर दी है. दिल्ली पुलिस के आयुक्त अमूल्य पटनायक ने 15 नवंबर 2018 को जवानों को प्रशिक्षण देने के लिए ई-ट्रेनिंग पोर्टल ‘निपुण’ की शुरुआत की.

तकीनीकी ज्ञान मुहैया कराने के लिए दिल्ली पुलिस के डिजिटल होने की ओर एक और कदम कहा जा सकता है. जानकारी के मुताबिक इस पोर्टल पर जवानों को अनेक विषयों पर जानकारी मिल सकेगी.

यूनिसेफ द्वारा भारतीय एथलीट हिमा दास को युवा एंबेसडर बनाया गया

भारत की प्रसिद्ध धाविका तथा एशियन गेम्स की स्वर्ण पदक विजेता हिमा दास 15 नवम्बर 2018 को यूनिसेफ इंडिया की युवा एंबेसडर बनाई गईं. हिमा बच्चों के अधिकारों और आवश्यकताओं के बारे में जागरुकता बढ़ाने, बच्चों और युवाओं की आवाज को बुलंद करने में हिस्सा लेंगी.

विश्व बाल दिवस उत्सव के अवसर पर हिमा दास भारत की पहली युवा एंबेसडर हैं. विशेष बात यह है कि हिमा दास पहली युवा भारतीय लड़की हैं जिन्हें यूनिसेफ ने अपना ब्रैंड एंबेसडर बनाया है. हिमा दास उस समय प्रसिद्ध हुईं जब उन्होंने जुलाई 2018 में फिनलैंड में आयोजित आईएएफ वर्ल्ड अंडर-20 चैम्पियनशिप की महिलाओं की 400 मीटर स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीता था. उन्होंने फाइनल में 51.46 सेकेंड का समय निकालते हुए स्वर्ण पदक हासिल किया था.

छह वर्षों में भारत में कैंसर के मामलों में 15.7% वृद्धि: अध्ययन

ग्लोबल कैंसर ऑब्जर्वेटरी (ग्लोबोकेन) द्वारा हाल ही में जारी आंकड़ों के अनुसार भारत में पिछले छह वर्षों में भारी वृद्धि दर्ज की गई है. यह आंकड़े वर्ष 2012 से 2018 तक के हैं. इन आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2018 में लगभग 11.57 लाख कैंसर के मामलें दर्ज किये गए, जो कि वर्ष 2012 में दर्ज 10 लाख मामलों की तुलना में 15.7 प्रतिशत अधिक हैं.

वर्ष 2018 में 1.62 लाख स्तन कैंसर के मामले सामने आए जो कि वर्ष 2012 की तुलना में10.7 प्रतिशत अधिक हैं. वर्ष 2012 के 1.45 लाख मामले सामने आये थे. गर्भाशय ग्रीवा कैंसर के मामलों की संख्या में 21.2 प्रतिशत की गिरावट आई है. वर्ष 2018 में मात्र 96,922 मामले ही सामने आए जबकि वर्ष 2012 में 1.23 लाख गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर के मामले दर्ज किये गए थे.