दैनिक समसामयिकी 21 नवम्बर 2018

भारतीय नौसेना के लिए रूस बनाएगा दो जंगी जहाज

भारतीय नौसेना के लिए रूस दो जंगी जहाज बनाएगा। इसके लिए दोनों देशों ने मंगलवार को 50 करोड़ डॉलर (3570 करोड़ रुपए) की डील की। इस रक्षा सौदे से यह संकेत मिलने लगे हैं कि भारत अमेरिका से मिल रही प्रतिबंध लगाने की चेतावनी को लगातार नजरअंदाज कर रहा है। एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम के बाद भारत और रूस के बीच यह दूसरी डिफेंस डील है।दोनों युद्धपोत तलवार-क्लास के होंगे। इस प्रोजेक्ट के लिए भारत की डिफेंस पीएसयू गोवा शिपयार्ड लिमिटेड (जीएसल) और रूस की प्रमुख सरकारी कंपनी रोसोबोरोनएक्सपोर्ट के बीच समझौते हुआ। ये दोनों युद्धपोत स्टील्थ टेक्नोलॉजी से लैस होंगे। दोनों जंगी जहाजों को आधुनिक मिसाइल समेत अन्य हथियारों से भी लैस किया जाएगा। इस डील में रूस जीएसएल को डिजाइन, टेक्नोलॉजी समेत अन्य सामग्री देगा, जिससे भारत में ऐसे जंगी जहाजों का निर्माण हो सके।

सिख विरोधी दंगों से जुड़े मामलों में पहली बार किसी दोषी को मौत की सजा सुनाई गई

1984 में हुए सिख विरोधी दंगों से जुड़े एक मामले में दिल्ली की अदालत ने दो दोषियों को सजा सुनाई। दक्षिणी दिल्ली में दो सिखों की हत्या के मामले में दोषी यशपाल सिंह को अदालत ने सजा-ए-मौत और नरेश सहरावत को उम्रकैद की सजा सुनाई। पिछली सुनवाई में अदालत ने दोनों को हत्या दोषी करार दिया था और फैसला सुरक्षित रख लिया था। 34 साल पुराने सिख दंगों से जुड़े किसी मामले में पहली बार किसी दोषी को मौत की सजा सुनाई गई।

यस बैंक के स्वतंत्र निदेशक आर चंद्रशेखर का इस्तीफा

यस बैंक के स्वतंत्र निदेशक आर चंद्रशेखर ने सोमवार को इस्तीफा दे दिया। बैंक ने रेग्युलेटरी फाइलिंग में इसकी जानकारी दी। बैंक ने इस्तीफे की वजह निजी बताई है। लेकिन, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चंद्रशेखर कंपनी के मौजूदा हालातों से नाखुश थे। पिछले हफ्ते नॉन एग्जीक्यूटिव चेयरमैन अशोक चावला और बैंक की ऑडिट कमिटी के हेड वसंत गुजराती ने इस्तीफा दिया था। एसबीआई के पूर्व चेयरमैन ओ पी भट्ट ने भी यस बैंक के पैनल से पिछले हफ्ते इस्तीफा दे दिया था। उन्हें बैंक के सीईओ और एमडी राणा कपूर का विकल्प तलाशने वाले पैनल में शामिल किया गया था।

ग्लोबल टैलेंट रैंकिंग में भारत 2 पायदान फिसलकर 53वें नंबर पर पहुंचा

ग्लोबल टैलेंट रैंकिंग में भारत इस साल 2 पायदान नीचे 53वें नंबर पर रहा। स्विटजरलैंड लगातार 5वें साल टॉप पर है। आईएमडी बिजनेस स्कूल, स्विटजरलैंड ने मंगलवार को सूची जारी की। इसमें 63 देशों को शामिल किया गया। इनकी रैंकिंग प्रतिभाशाली लोगों के विकास, उन्हें आकर्षित करने और अपने देश में रोकने जैसे पैमानों के आधार पर की गई।

अलग-अलग क्षेत्रों में योगदान के लिए भारतीय मूल की 8 महिलाओं का सम्मान

अमेरिका में 8 भारतीय मूल की महिलाओं को विभिन्न क्षेत्रों में उनकी उपलब्धि के लिए सम्मानित किया गया है। अमेरिकन बाजार विमेन आंत्रप्रेन्योर एंड लीडर्स गाला के उद्धाटन समारोह में राजनीति से लेकर बिजनेस और मानवाधिकार से लेकर विज्ञान के क्षेत्र में योगदान के लिए महिलाओं को अवॉर्ड दिया गया।

वाशिंगटन: श्रुति पलानीअप्पन बनीं हार्वर्ड विश्वविद्यालय छात्र निकाय की अध्यक्ष

हार्वर्ड युनिवर्सिटी के प्रभावशाली छात्र निकाय के हुए चुनाव में भारतीय मूल की अमरीकी महिला श्रुति पलानीअप्पन को अध्यक्ष चुना गया। 20 वर्षीय श्रुति पलानीअप्पन हार्वर्ड यूनिवर्सिटी अंडरग्रेजुएट काउंसिल की अध्यक्ष बनी हैं।

वियतनाम दौरे पर पहुंचे भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

अपने वियतनाम दौरे पर पहुंचे भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने हनोई में राष्ट्रीय नायकों और शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इससे पहले सोमवार को राष्ट्रपति ने माय सन टेंपल का दौरा किया था। यहां कृष्णा, विष्णु और शिव की मूर्तियां हैं। बता दें कि राष्ट्रपति कोविंद वियतनाम के तीन दिन के आधिकारिक दौरे पर हैं।

दुनिया भर के मलेरिया के कुल मामलों में से 80% मामले भारत और अफ्रीकी देशों से: डब्ल्यूएचओ

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की रिपोर्ट के मुताबिक, दुनियाभर में पिछले साल (वर्ष 2017) मलेरिया के 80% मामले नाइजीरिया, कॉन्गो, युगांडा, मोज़ांबिक व मेडागास्कर समेत 15 अफ्रीकी देशों और भारत में दर्ज हुए. बतौर डब्ल्यूएचओ, भारत में 2017 में 2016 के मुकाबले मलेरिया के कम मामले सामने आए और रिपोर्ट के अनुसार भारत में 1.25 अरब लोग इस मच्छर जनित बीमारी की चपेट में आने की कगार पर थे.

हालांकि डब्ल्यूएचओ की 2018 के लिए विश्व मलेरिया रिपोर्ट में एक सकारात्मक बात भी कही गई है जिसके मुताबिक भारत एकमात्र ऐसा देश है जिसने वर्ष 2016 के मुकाबले वर्ष 2017 में मलेरिया के मामलों को घटाने में प्रगति की है.

भारत-अमेरिका का ‘वज्र प्रहार’ नामक संयुक्त सैन्य अभ्यास राजस्थान में आयोजित

भारत व अमेरिका की सेना के संयुक्त युद्धाभ्यास ‘वज्र प्रहार-2018 का 19 नवम्बर 2018 को आरंभ हुआ. यह युद्धाभ्यास 2 दिसम्बर 2018 तक चलेगा. गौरतलब है कि एशिया की सबसे बड़ी व सेना की दक्षिण-पश्चिमी कमान द्वारा विश्व स्तरीय ट्रेनिंग नोड के रूप में स्थापित की गई महाजन फील्ड फायरिंग रेंज में भारत व अमेरिका की सेना संयुक्त युद्धाभ्यास कर रही है.

एशिया की सबसे बड़ी व सेना की दक्षिण-पश्चिमी कमान द्वारा विश्व स्तरीय ट्रेनिंग नोड के रूप में स्थापित की गई महाजन फील्ड फायरिंग रेंज में एक बार फिर भारत व अमेरिका की सेना संयुक्त युद्धाभ्यास कर रही है.

रेडियो कश्मीर – इन टाइम्स ऑफ पीस एंड वॉर’ पुस्तक का विमोचन किया गया

पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री, कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष राज्य मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह ने 20 नवंबर 2018 को नई दिल्ली में डॉ. राजेश भट्ट द्वारा लिखित ‘रेडियो कश्मीर – इन टाइम्स ऑफ पीस एंड वॉर’ (रेडियो कश्मीर-शांति एवं युद्ध काल में) नामक पुस्तक का विमोचन किया.

रेडियो कश्मी‍र – इन टाइम्स ऑफ पीस एंड वॉर नामक पुस्तक गहरे और विस्तृ्त शोध पर आधारित है तथा लेखक ने देश के कल्याण एवं सुरक्षा संबंधी विभिन्नॉ मुद्दों के मद्देनज़र सरकार और जनता के रणनीतिक हितों को सुरक्षित बनाने में मीडिया द्वारा निभाई गई अहम भूमिका को रेखांकित किया है.

पश्चिम बंगाल ने बस्तियों के निवासियों को भूमि अधिकार देने हेतु विधेयक पारित किया

पश्चिम बंगाल विधानसभा ने 19 नवम्बर 2018 को उत्तर बंगाल में बस्तियों के निवासियों को भूमि अधिकार देने के लिए एक विधेयक सर्वमम्मति से पारित कर दिया. इससे उन बस्तियों में रहने वाले लोगों के भविष्य को लेकर जारी अनिश्चितता समाप्त हो गई.

पश्चिम बंगाल भूमि सुधार (संशोधन) विधेयक, 2018 भूमि एवं भूमि सुधार राज्य मंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्या की ओर से पेश किया गया था. सदन में उसे सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया. इस विधेयक के समर्थन में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि इस ‘‘ऐतिहासिक विधेयक’’ से बस्ती निवासियों को भारतीय नागरिक होने का पूर्ण दर्जा प्राप्त होगा. उन्हें इसके साथ ही सभी नागरिक सुविधाएं एवं नागरिक अधिकार भी प्राप्त होंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ईज़ ऑफ़ डूइंग बिज़नेस ग्रैंड चैलेंज लॉन्च किया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अत्याधुनिक प्रौद्योगिकियों का उपयोग कर ‘कारोबार में सुगमता’ से जुड़ी सात चिन्हित समस्या‍ओं को सुलझाने के लिए ‘ग्रैंड चैलेंज’ का शुभारंभ किया है. इस चैलेंज का उद्देश्य युवा भारतीयों, स्टार्टअप और अन्य निजी उद्यमियों की क्षमताओं का दोहन करना है, ताकि वर्तमान अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी का उपयोग कर जटिल समस्याओं का समाधान निकाला जा सके.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 20 नवम्बर 2018 को नई दिल्ली स्थित अपने आवास पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान भारतीय और विदेशी कंपनियों के चुनिंदा मुख्य का‍र्यकारी अधिकारियों (सीईओ) के साथ संवाद किया. प्रधानमंत्री ने भारत में कारोबारी माहौल को निरंतर बेहतर करने के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों से मुख्य कार्यकारी अधिकारियों को अवगत कराया.