दैनिक समसामयिकी 23 जनवरी 2019

भारत जल्द ही चिप आधारित ई-पासपोर्ट जारी करेगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को वाराणसी में प्रवासी भारतीय सम्मेलन को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि सरकार प्रवासी भारतीयों की यात्रा को आसान बनाने के लिए कई अहम कदम उठा रही है। उन्होंने बताया कि भारत जल्द ही चिप आधारित ई-पासपोर्ट जारी करेगा। प्रधानमंत्री ने कहा- सरकार प्रवासी भारतीयों के लिए पीआईओ, वीजा और ओसीआई कार्ड को सोशल सिक्योरिटी सिस्टम से जोड़ने का प्रयास कर रही है, जिससे वीजा जारी करने की प्रक्रिया सरल हो सके। इस कार्यक्रम में 150 देशों के 5000 से ज्यादा प्रवासी भारतीय शामिल हुए। इससे पहले सोमवार को उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने तीन दिवसीय (21 से 23 जनवरी तक) प्रवासी सम्मेलन का उद्घाटन किया था। मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ ने प्रवासी भारतीय दिवस को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित किया। उन्होंने स्वच्छ ऊर्जा को बढ़ावा देने और अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन की स्थापना के लिए मोदी के वैश्विक नेतृत्व की भी प्रशंसा की। घोषणा की कि उनका देश भगवत गीता महोत्सव और भोजपुरी महोत्सव आयोजित करेगा। प्रवासी भारतीय सम्मेलन की शुरुआत तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने 2009 में की थी। यह हर दो साल में होता है। पहला कार्यक्रम 9 जनवरी को किया गया था। दरअसल, 1915 में इसी तारीख को महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका से भारत लौटे थे। लिहाजा सरकार ने 9 जनवरी को प्रवासी दिवस मनाने का फैसला लिया। इस बार इसकी तारीखों में बदलाव किया गया। इसका मकसद यहां आने वाले प्रवासियों को कुंभ मेले की भव्यता से परिचय कराना है।

प्रभात डेयरी 1700 करोड़ रु में फ्रांस के लैक्टेलिस ग्रुप को अपना कारोबार बेचेगी

प्रभात डेयरी अपना फ्लैगशिप डेयरी कारोबार 1,700 करोड़ रुपए में फ्रांस के डेयरी ग्रुप लैक्टेलिस को बेचेगी। प्रभात डेयरी ने लैक्टेलिस ग्रुप की भारतीय सब्सिडियरी तिरुमला मिल्क प्रोडक्ट्स के साथ एग्रीमेंट कर लिया है। उसने सोमवार को यह जानकारी दी। डील पूरी होने के बाद प्रभात डेयरी एनिमल न्यूट्रिशन बिजनेस पर ध्यान देगी। प्रभात डेयरी 20 साल पुरानी फर्म है। साल 1998 से यह कारोबार कर रही है। इसकी रोजाना 15 लाख लीटर दूध प्रोसेसिंग की क्षमता है। कंपनी का सालाना रेवेन्यू 1,554 करोड़ रुपए है। लैक्टेलिस फ्रांस की दूसरी बड़ी फूड कंपनी है। इसके रेवेन्यू का 58% हिस्सा यूरोप से आता है। अमेरिका से 21% रेवेन्यू मिलता है। साल 2014 में इसने हैदराबाद की तिरुमला मिल्क को 1,750 करोड़ रुपए में खरीदा था।

वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम : इस बार 22% महिलाओं का प्रतिनिधित्व

दावोस में आयोजित वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (डब्ल्यूईएफ) में इस बार 22% महिलाएं हिस्सा ले रही हैं। पिछले साल 21% महिलाएं शामिल हुई थीं। इस साल फोरम में शामिल कुल 3,000 प्रतिनिधियों में से 696 महिलाएं हैं। फोरम में 119 देशों के डेलिगेशन हिस्सा ले रहे हैं। नॉर्वे के डेलिगेशन में महिला प्रतिनिधियों की संख्या सबसे ज्यादा 37% है। भारतीय डेलिगेशन में महिलाओं की हिस्सेदारी 13.2% है। हर साल आयोजित होने वाले वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम में दुनियाभर के बिजनेस लीडर्स के साथ सरकारी अधिकारी और अलग-अलग क्षेत्र की हस्तियां जुटती हैं। इस बार की थीम ग्लोबलाइजेशन 4.0 है। यहां 4.0 का मतलब चौथी औद्योगिक क्रांति से है। सम्मेलन की शुरुआत मंगलवार को हो चुकी है। यह 25 जनवरी तक चलेगा।

चीन ने थल सेना में 50% सैनिक घटाए, वायुसेना-नौसेना में जुड़ेंगे जवान

चीन अपनी सेना पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) को अत्याधुनिक बनाने के लिए थल सेना के आकार में लगभग 50 प्रतिश तक की कटौती कर दी है। हालांकि, इस कटौती के बाद भी 20 लाख सैनिकों के साथ पीएलए दुनिया की सबसे बड़ी सेना बनी हुई है। सैनिक नेवी और एयरफोर्स में बढ़ाए हैं। राष्ट्रपति शी जिनपिंग अपनी सेनाओं को आधुनिक बनाने पर जोर दे रहे हैं। वायुसेना और नौसेना में हथियारों की खरीद और आधुनिकीकरण पर फोकस किया जा रहा है। चीन की आर्मी में पांच स्वतंत्र शाखाएं हैं। इनमें थलसेना, नेवी, एयरफोर्स, रॉकेट फोर्स, स्ट्रेटेजिक सपोर्ट फोर्स और स्ट्रेटेजिक एंड टेक्टिकल मिसाइल ऑपरेटर शामिल हैं। शी जिनपिंग ने स्ट्रेटेजिक सपोर्ट फोर्स और टेक्टिकल मिसाइल ऑपरेटर का गठन दो साल पहले ही किया है।

राष्ट्रपति ने 26 बच्चों को राष्ट्रीय पुरस्कारों से नवाजा

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंगलवार को छह साल के एक पर्यावरणविद् सहित विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान के लिए 26 बच्चों को राष्ट्रीय पुरस्कारों से नवाजा। प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार दो मुख्य श्रेणियों-बाल शक्ति पुरस्कार और बाल कल्याण पुरस्कार में दिए गए। राष्ट्रपति कोविंद ने महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी और अन्य लोगों की मौजूदगी में राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक भव्य समारोह में ये पुरस्कार प्रदान किए।

आइसीसी पुरस्कारों में ‘विराट’ जलवा

मैदान पर नए रिकॉर्ड बना रहे ‘किंग कोहली’ का ‘विराट’ जलवा आइसीसी के सालाना पुरस्कारों में भी देखने को मिला जिसमें ‘क्लीन स्वीप’ करते हुए भारतीय कप्तान टेस्ट, वनडे और ओवरऑल वर्ष के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर चुने गए। यह तीनों उपलब्धि एक साथ हासिल करने वाले विराट दुनिया के पहले क्रिकेटर बन गए। उन्हें आइसीसी ने वर्ष के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों से भरी टेस्ट व वनडे टीम का भी कप्तान नियुक्त किया।

वर्ष 2018 में शानदार प्रदर्शन करने वाले कोहली क्रिकेट इतिहास के पहले खिलाड़ी बन गए जिन्हें वर्ष के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर को दी जाने वाली सर गारफील्ड सोबर्स ट्रॉफी के साथ आइसीसी के सर्वश्रेष्ठ टेस्ट और वनडे खिलाड़ी के पुरस्कार के लिए चुना गया। यह लगातार दूसरा वर्ष है जब कोहली ने सर गारफील्ड सोबर्स ट्रॉफी अपने नाम की है। कोहली ने पिछले कैलेंडर वर्ष (2018) के दौरान 13 टेस्ट मैचों में 55.08 की औसत से 1,322 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने पांच शतकीय पारियां भी खेली। उन्होंने 14 वनडे में छह शतक के साथ 133.55 की शानदार औसत से 1202 रन बनाए। भारतीय कप्तान ने टी-20 अंतरराष्ट्रीय में 211 रन बनाए। कोहली ने 2017 में भी सर गारफील्ड ट्रॉफी और आइसीसी सर्वश्रेष्ठ वनडे खिलाड़ी के पुरस्कार जीते थे। वह 2012 में भी आइसीसी वर्ष के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी रहे थे। वहीं, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) ने कहा कि कोहली आइसीसी के इन तीनों प्रमुख पुरस्कारों को एक साथ जीतने वाले पहले क्रिकेटर हैं।

पंत बने वर्ष के सर्वश्रेष्ठ उभरते क्रिकेटर

भारत के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत को 2018 में किए गए शानदार प्रदर्शन के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) ने वर्ष का उभरता हुआ क्रिकेटर (इमर्जिंग प्लेयर आॅफ द ईयर) चुना। पंत को आइसीसी की टेस्ट टीम में विकेटकीपर के तौर पर चुना गया है। अन्य भारतीयों में तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को भी जगह मिली है। कोहली के अलावा बुमराह इकलौते ऐसे खिलाड़ी है जो टेस्ट और वनडे दोनों टीमों में जगह बनाने में सफल रहे। वनडे टीम में कोहली के साथ सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा, स्पिनर कुलदीप यादव और बुमराह भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।

एसिड अटैक की पीड़ित महिलाओं को पेंशन देगी हरियाणा सरकार

हरियाणा सरकार तेजाब से पीड़ित महिलाओं औश्र लड़कियों को पांच से नौ हजार रूपये मासिक पेंशन देगी। ऐसी पीड़िताओं को महिला एवं बाल विकास आयोग द्वारा इलाज के लिए 50 जहार रूपये से तीन लाख रूपये की आर्थिक मदद भी दी जाएगी। पीड़ित महिलाएं अंत्योदय केंद्रों अथवा अटल सेवा केंद्रों के माध्यम से आॅनलाइन आवेदन कर सकती हैं।

फ्रांस सरकार ने गूगल पर लगाया 404 करोड़ रुपये का जुर्माना

फ्रांस के डाटा निगरानीकर्ता ने सोमवार को यूरोपीय संघ के सख्त जनरल डाटा प्रोटेक्शन रेगुलेशन (जीडीपीआर) का पहली बार इस्तेमाल करते हुए अमेरिकी सर्च इंजन गूगल पर 50 मिलियन यूरो (404.73 करोड़ रुपये) के जुर्माने की घोषणा की। एक बयान में बताया गया कि गूगल अपनी डाटा नीतियों के तहत पारदर्शी और आसानी से सुलभ जानकारी प्रदान करने में विफल रहा। इस कारण नियामक सीएनआइएल ने उस पर रिकॉर्ड जुर्माना किया